मेरा बचपन मेरी मम्मा की नज़र से...

Wednesday, March 2, 2011

महा मृत्युंजय मंत्र सहित ५ संस्कृत श्लोक

आज महा शिवरात्रि के शुभ दिन मैं आप सभी को शिव जी का खास महा मृत्युंजय मंत्र सुना रही हूँ  . आप सभी को यह जान कर बहुत ख़ुशी होगी कि इस मंत्र सहित मुझे अब ६ से भी ज्यादा संस्कृत के श्लोक कंठस्थ हो गए है . आज आप इस वीडियो में सुनिए मेरे श्लोक जिनमे महा मृत्युंजय मंत्र सहित ५ संस्कृत श्लोक है .जो यह है ....

१ . सर्वे भवन्तु सुखिनः। सर्वे सन्तु निरामयाः।
     सर्वे भद्राणि पश्यन्तु। मा कश्चित् दुःख भाग्भवेत्॥

२. ॐ भूर्भुवस्वः । तत सवितुर्वरेण्यं ।
    भर्गो देवस्य धीमहि । धियो यो नः प्रचोदयात ॥

३.  ॐ त्रयम्बकं यजामहे सुगन्धिँ पुष्टिवर्धनम्, 
     उर्वारूकमिव बन्धनान् मृत्योर्मुक्षीय मा मृतात् ।

४. गुरु: ब्रह्मा गुरु: विष्णु: गुरु: देवो महेश्वर: l
    गुरु: साक्षात् परब्रह्म: तस्मै श्री गुरुवे नम: ll

५. वक्रतुंड महाकाय कोटिसूर्यसमप्रभ ।
    निर्विघ्नं कुरु मे देव सर्वकार्येषु सर्वदा ॥



आप सभी को महा शिवरात्री  की हार्दिक शुभकामनाएँ.

12 comments:

Coral said...

बहुत सुन्दर बेटा ...... आपको ढेरो प्यार और आशीर्वाद !

यशवन्त माथुर said...

अनु!बहुत अच्छी तरह तुमने याद किया है और एक एक शब्द का उच्चारण भी साफ़ साफ़ किया है तुमने.दिल खुश हो गया तुमको इन मन्त्रों को बोलते देख कर.
संस्कृत बचपन से मेरा भी पसंदीदा विषय रहा है.
तारीफ़ तो मम्मा की भी करनी पड़ेगी जिन्होंने तुम्हें सिखाया.
ऐसे ही खूब अच्छा अच्छा आगे भी सीखती चलना.
शिवरात्री की बहुत बहुत बधाई.

With Love-

Vijai Mathur said...

तुम सबको शिवरात्री की मंगल कामनाओं के साथ तुम्हें हार्दिक आशीर्वाद. तुम देश से दूर रह कर भी प्राचीन संस्कृति बचपन से सीख रही हो ,यही उपयुक्त है.यदि देश में भी सारे बच्चों को यही आदत डाली जाये तो देश को पुराना गौरव फिर हासिल हो जाएगा.

Kulwant Happy said...

शिवरा‍त्रि की शुभकामनाएं

वाणी गीत said...

बहुत बढ़िया ...
अनुष्का को बहुत प्यार ...!

निर्मला कपिला said...

बहुत बढिया। अनुश्का कैसी है?। मुझे दुर्गा सप्तश्ति संस्कृ्त मे जबानी याद है। लेकिन संस्कृ्त नही आती। शुभकामनायें।

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

गुरु: भ्रह्मा गुरु: विष्णु: गुरु: देवो महेश्वर: l
गुरु: साक्षात् परब्रह्म: तस्मै श्री गुरुवे नम: ll
--
भ्रह्मा को ब्रह्मा कर लीजिए!
महाशिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएँ।

ताऊ रामपुरिया said...

अरे वाह अनुष्का बिटिया, संस्कृत के श्लोक इतने सुंदर उच्चारण और स्पष्टता से बोलकर मंत्रमुग्ध कर दिया, बहुत प्यार, शिवरात्रि की शुभकामनाएं.

रामराम.

skj said...

बहुत बहुत ही सुन्दर ...
अनुष्का को आशीर्वाद

राज भाटिय़ा said...

अरे वाह बेटा बहुत सुंदर

Mukesh Kumar Sinha said...

love you and bless you anushka..:)

Patali-The-Village said...

शिवरात्री की मंगल कामनाओं के साथ तुम्हें हार्दिक आशीर्वाद|