मेरा बचपन मेरी मम्मा की नज़र से...

Tuesday, March 8, 2011

नृत्यक्षेत्र ----पहला दिन

डांस के प्रति मेरे लगाव को देखते हुए ममा-पापा ने मुझे पिछले हफ्ते डांस स्कूल "नृत्य क्षेत्र " (भरतनाट्यम डांस) में एनरोल करा दिया है . वैसे तो हम लोग वहाँ बस इस बारे में जानकारी ही लेने गए थे ....लेकिन संयोग और प्रभू कृपा से मुझे गुरु सानिध्य प्राप्त हुआ .
जब मेरी टीचर दीपाली आंटी ने मुझे देखा उन्हें भी लगा मैं छोटी हूँ लेकिन उन्होंने भी जब मुझे कुछ करने को कहा और मैंने भी उनके इंस्ट्रकशनस अच्छे से माने तो वो बहुत खुश हुई और उन्होंने मुझे अपनी शिष्या बना ही लिया .....ममा पापा के लिए और मेरे लिए बहुत ही ख़ुशी की बात यह है कि मेरी पहली ही क्लास में मेरी गुरु ने यह तय कर लिया को वो इस माह की २६ तारीख को आयोजित होने वाले उनके स्टेज शो में दुसरे शिष्यों के साथ मुझे भी स्टेज पर ले जाएंगी . जब उन्होंने मुझे अच्छे से  यह सब बताया तब से मैं बहुत एक्साइटेड हूँ  :)

यह है मेरे पहले दिन के कुछ फोटोस ....




  

 
  





13 comments:

Kajal Kumar said...

शाबाश. ख़ूब मन लगा कर अभ्यास करो व कुशल नृत्यांगना बनो. ढेरों मंगलकामनाएं.

Akshita (Pakhi) said...

वाह डांस की मस्ती...मजेदार.

यशवन्त माथुर said...

बहुत बढ़िया बेटू जी! खूब मन लगा कर प्रैक्टिस करना अनु!

With Love-

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

वाह ..बहुत सुन्दर ...अब तो स्टेज पर किये गए डांस के फोटो का इंतज़ार है ..

रावेंद्रकुमार रवि said...

बहुत अच्छी शुरूआत है!

ताऊ रामपुरिया said...

गुरू शिष्या दोनों को हार्दिक शुभकामनाएं, खूब नाम रोशन करो.

रामराम.

राज भाटिय़ा said...

बहुत सुंदर

Chinmayee said...

badhiya........

Dinesh pareek said...

बहुत सुन्दर अच्छी लगी आपकी हर पोस्ट बहुत ही स्टिक है आपकी हर पोस्ट कभी अप्प मेरे ब्लॉग पैर भी पधारिये मुझे भी आप के अनुभव के बारे में जनने का मोका देवे
दिनेश पारीक
http://vangaydinesh.blogspot.com/ ये मेरे ब्लॉग का लिंक है यहाँ से अप्प मेरे ब्लॉग पे जा सकते है

Patali-The-Village said...

बहुत सुन्दर...शुभकामनाएँ|

संजय भास्कर said...

अच्छी शुरूआत

संजय भास्कर said...

बहुत बढ़िया

संजय भास्कर said...

कई दिनों व्यस्त होने के कारण  ब्लॉग पर नहीं आ सका