मेरा बचपन मेरी मम्मा की नज़र से...

Wednesday, November 3, 2010

लो आई दीपावली, लाई प्यारी प्यारी याद -------------अनुष्का

आज मम्मी ने मुझे बताया की दीपावली आगई है तो मैंने ममा से पूछा दीपावली में हम क्या करेंगे ....ममा ने मुझे दीपावली से जुड़ी बहुत सी बातें बताई और बताया कि इण्डिया में इस त्यौहार की कैसी धूम होती है .मैंने तो अब तक इण्डिया की एक भी दीपावली नहीं देखी लेकिन जब ममा ने मुझे याद दिलाया तो मुझे यहाँ की दोनों पिछली दीपावली पर हमने यहाँ भी अच्छे से दीपावली मनाई थी तो मुझे वो सब बातें याद आई.......

वर्ष २००९ की दीपावली, ममा की बनाई रंगोली मुझे बहुत अच्छी लगी

ममा की तुलसी ...जिनका हमेशा बहुत प्यार से ध्यान रखती थी ममा तो :)
सबसे पहली दीपावली का तो कुछ ध्यान नहीं मुझे . वैसे भी पहली दीपावली पर हमारे फर्स्ट इण्डिया विज़िट की तैयारियाँ चल रही थी तो ममा कुछ खास कर न सकी . हर साल ममा-पापा दीपावली का त्यौहार यथासंभव यहाँ अच्छे से मानते है . हम लोग नए नए कपड़े पहनते है, ममा तरह तरह की मिठाइयाँ बनाती है, हम सब साथ मिलकर लक्ष्मी पूजन करते है, मंदिर जाते है ....

वर्ष २००८  में न्यू जर्सी में दीपावली पूजन
वर्ष २००८ में न्यू जर्सी में दीपावली पूजन

वर्ष २००९ में लॉन्ग आईलेंड में मनी दीपावली
वर्ष २००९ दीपावली पूजन 
ममा-पापा को सब लोगो से मिलना मिलाना बहुत पसंद है इसीलिए ममा अक्सर कोई न कोई गेदरिंग ओर्गेनाइज़ करती ही रहती है तो फिर दीपावली के दिन न करे ऐसा तो हो नहीं सकता ....वो पापा के ऑफिस के फ्रेंड्स और हमारे पास पड़ोस के फ्रेंड्स को भी पूजन पर बुलाती है ...पूजा के बाद सब एक साथ खाना खाते है और फिर शुरू होजाती है इन सबकी गोष्ठी लेकिन बीच बीच में मेरी मस्ती भी चलती रहती है . कभी कभी सब लोग कोई गेम खेलते है तो कभी गीत, कविता या किस्सों का दौर चलता है .....
वर्ष २००८ की दीपावली पर हमारे साथ विशाल चाचू ,भाविनी चची, सुजाता ताई, श्री अंकल, प्रशांत भैया, शशि अंकल, दुर्बा आंटी और दिबाकर अंकल थे फिर आचानक आर्थिक मंदी का वो दौर शुरू हुआ कि ये सब लोग एक एक कर स्वदेश चले गए. कुछ महीनो पहले विशाल चाचू, चची लौटे है पर वो बहुत दूर है यहाँ से . वर्ष २००९ में वाशिंगटन से अशोक ममा और न्यूजर्सी से अतुल अंकल, अनीता आंटी आए थे हमारे पास बहुत अच्छा लगा था लेकिन इस बार हम दूर है इन सब से ....
अतुल अंकल, अनीता आंटी जो मुझे बहुत प्यार करते है ....मैं इनसे फोन पर बहुत बातें करती हूँ !!

मुझे दीपावली में पूजन की तैयारिया कराना बहुत अच्छा लगता है और रंगोली तो मुझे बहुत बहुत पसंद है. जब ममा बनाती है तो मैं बहुत ध्यान से देखती हूँ और बिलकुल ख़राब नहीं करती. इण्डिया में लक्ष्मी पूजन के समय दादू दादी ऑनलाइन आजाते है तो हम वहाँ की पूजन में शामिल हो जाते है फिर जब हम पूजन करते है तो वो भी नेट के जरिये हमारी पूजा में शामिल हो जाते है ......ऐसे ही ऑनलाइन हम माई (नानीजी ), डैडीजी (नानाजी ) की दीपावली में भी शामिल रहते है ....ममा कहती है ज़मीन से दूर है तो क्या दिल के तो हमेशा करीब ही है :)
हम लोग ऑनलाइन एक दुसरे को अपने नए कपड़े, मिठाइयों के बारे में बताते है और दादू, मामासाब,चाचू मुझे फुलझड़ी जला कर बताते है .....मैंने अब तक कभी अपने हाथ से की जाने वाली आतिशबाज़ी के आनंद नहीं लिए ....इस बार तो हम यहाँ होटल मैं है परिचित लोगो और अपने घर से दूर.  पता नहीं दीपावली पर कुछ खास कर भी पाएंगे या नहीं . बस इस बात की बहुत ख़ुशी है कि इस बार चाचू हमारे साथ है ...यही सब सोचते हुए हमने पिछली दीपावली की सारी बातें बहुत याद की ....!!!


आप सभी को दीपावली की बहुत बहुत शुभकामनाएँ....!!

13 comments:

NEHA MATHEWS said...

हैप्पी दिवाली,अनुष्का|खुश रहो|

यश(वन्त) said...

Happy Diwali sweet heart :)to you and your Mummy-Papa & friends.

शाहिद मिर्ज़ा ''शाहिद'' said...

देखा, कितना आनन्द आता है त्यौहारों में...
बहुत अच्छा लगा...
आप सबको दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं.

संजय भास्कर said...

आपको और आपके परिवार को दीपावली की हार्दिक शुभकामाएं ...

माधव( Madhav) said...

दीवाली की शुभकामनाये

गिरीश बिल्लोरे said...

हैप्पी दीवाली-सुकुमार गीतकार राकेश खण्डेलवाल

चैतन्य शर्मा said...

दीवाली की शुभकामनाये

चैतन्य शर्मा said...

हैप्पी दिवाली अनुष्का....

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

प्रेम से करना "गजानन-लक्ष्मी" आराधना।
आज होनी चाहिए "माँ शारदे" की साधना।।

अपने मन में इक दिया नन्हा जलाना ज्ञान का।
उर से सारा तम हटाना, आज सब अज्ञान का।।

आप खुशियों से धरा को जगमगाएँ!
दीप-उत्सव पर बहुत शुभ-कामनाएँ!!
--
आपकी प्यारी सी पोस्ट की चर्चा
बाल चर्चा मंच पर भी है!
http://mayankkhatima.blogspot.com/2010/11/27.html

वन्दना said...

बहुत सुन्दर ।
दीप पर्व की हार्दिक शुभकामनायें।

प्रवीण त्रिवेदी ╬ PRAVEEN TRIVEDI said...

अनुष्का को हैप्पी दीपावली !
बच्चे की त्योहारों में खुशी देखते ही बनती है ....सो खुश रहिये !! मस्त रहिये !!

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

बहुत बहुत शुभकामनायें दीपावली पर ..तुमने तो हर साल की दीपावली की यादें सहेज रखी हैं ...

sada said...

बहुत ही सुन्‍दर ....प्रकाश पर्व की ढेर सारी शुभकामनायें ।